Diabetes / Madhumeh / Sugar ka ilaj

/
/
388 Views

Diabetes / Madhumeh / Sugar ka ilaj –

1. Sugar ka ilaj – शुगर की देशी दवा

सबसे पहले आंवला का रस 10 मिलीग्राम लीजिये। अब उसमे लगभग 2 ग्राम हल्दी चूर्ण (Turmeric Powder) मिला लीजिये। इस मिश्रण को रोगी को पिलाइए। ऐसा दिन में 2 बार करें। इससे खून में शुगर कण्ट्रोल में रहता है।

2.  शुगर का इलाज – Sugar ka ilaj

सहजन के बारे में शायद ही आपको पता होगा। यह लगभग 300 से भी ज्यादा रोगों में फायदेमंद होता है। इसमें प्रोटीन और कैल्शियम की मात्रा काफी ज्यादा होती है। यह रक्तचाप को कम करने का काम करता है। उसके साथ-साथ भोजन पचाने में भी मदद करता है। इसमें कैल्शियम दूध के मुकाबले 4 गुना होता है। और प्रोटीन लगभग 2 गुना होता है।

3. Diabetes in Hindi – डायबिटीज का उपचार

सबसे पहले क्रमश 2, 4 चम्मच नीम और केला के पत्ते का रस निकाल लीजिये। मिलाकर इस रस को पीने से मधुमेह / डायबिटीज को रोगी को फायदा होता है।

4. Blood Sugar Ka Ilaj – शुगर का देशी दवा

Madhumeh / Diabetes के मरीज तुलसी के पत्ते का इस्तेमाल अवश्य करें। इसमें भरपूर मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट होता है। साथ ही साथ इसके पत्ते में जो आवश्यक तेल होता है। वह इन्सुलिन के लिए सहायक होता है। रोजाना खली पेट 1 छोटी चम्मच तुलसी के पत्ते का रस पीजिये। आपको लाभ मिलेगा। आप चाहे तो 2 से 3 पत्ते भी सेवन कर सकते है। शुगर के स्तर (Blood Sugar Level) को कम करता है।

Sugar ka ilaj / शुगर का इलाज / Diabetes in Hindi

diabetes

5. शुगर का इलाज – Sugar ka ilaj

करेला का सेवन डायबिटीज (Diabetes) रोगियों के लिए फायदेमंद होता है। प्रतिदिन करेले का रस पीजिये। इसका कड़वा जूस Sugar Level को कम करने का काम करता है। आप चाहे तो करेले का सेवन विभिन्न तरीके से कर सकते है। आपको अत्यंत लाभ मिलेगा।

 

6. डायबिटीज का उपचार – Diabetes in Hindi

कहते है कलोंजी और मैथी दाना मधुमेह (Madhumeh) का रामबाण उपचार है। सबसे पहले मैथी दाना और कलोंजी को पीस लीजिये। लेकिन ध्यान रहे की थोडा दरदरा पिसे। अब इसे कांच की बोतल या बरनी में रख लीजिये।

अब 1 गिलास पानी में 1 चम्मच चूर्ण डालकर रातभर के लिए छोड़ दीजिये। सुबह पानी छानकर अलग रख लीजिये। अब इस मिश्रण को चबा-चबा कर खा जाइये। उसके बाद बचा हुआ पानी को आराम से मतलब घूंट-घूंट करके पी जाइये। आपको अत्यंत लाभ मिलेगा।

7. शुगर का देशी दवा – Sugar ka ilaj in Hindi

डायबिटीज (Madhumeh) के मरीज को जामुन का सेवन जरुर करना चाहिए। आयुर्वेद में इसे भी अचूक औषधि कहा गया है। रोजाना जामुन का सेवन करें। यह रक्त में शुगर के स्तर को कम करने में सहायक होता है। आप चाहे तो कला नमक के साथ जामुन का सेवन कर सकते है। आपको फायदा होगा।

Diabetes in Hindi | शुगर का देशी दवा | Sugar ka ilaj

8. Sugar ka ilaj – शुगर का इलाज

इस रोग में आप हरी चाय (Green Tea) का भी उपयोग कर सकते है। यह भी मधुमेह को कम करने का कार्य करता है। इसमें पोलीफीनोल्स होता है। जो की एक बेहतरीन हाइपो-ग्लोइसेमिक एवं एंटी-ऑक्सीडेंट तत्व है। इसके इस्तेमाल से शरीर सही प्रकार से इन्सुलिन का उपयोग कर पाता है।

9. डायबिटीज का उपचार – Diabetes in Hindi

दालचीनी का उपयोग Diabetes / Madhumeh की समस्या में लाभकारी होता है। अपने दैनिक आहार में इसे अवश्य शामिल करें। यह रक्त में शुगर के स्तर को करता है। दालचीनी के सेवन करने से वजन भी नियंत्रित रहता है।

शुगर का देशी दवा | Sugar ka ilaj | डायबिटीज का उपचार

10. शुगर का देशी दवा – Sugar ka ilaj

यह विधि आपके बहुत काम का साबित होगा। इस विधि के सहायता से ब्लड शुगर लेवल (Blood Sugar Level) को कम किया जा सकता है। तो चलिए जानते है उस उपाय को, जो आपके लिए लाभकारी होगा।

सबसे पहले तेज पत्ता 100 ग्राम, मैथी दाना 100 ग्राम, बेलपत्र के पत्ते 250 ग्राम और काले जामुन की गुठली 150 ग्राम लीजिये। अब इन सब को मिलाकर चूर्ण तैयार कर लीजिये। अब इस चूर्ण को लगभग एक से डेढ़ चम्मच गुनगुने पानी के साथ लीजिये। इसे खली पेट सेवन करना है या भोजन के 1 घटे पहले ले सकते है। ऐसा आप सुबह और शाम करें। इस उपाय को लगातार 2 से 3 महीने तक करें। आपको अवश्य लाभ मिलेगा।
Sugar ka ilaj | शुगर का इलाज | डायबिटीज का उपचार | Diabetes in Hindi

  • सुबह और शाम पैदल अवश्य घूमे।
  • धीमी गति से दौड़ भी लगाये।
  • नंगे पैर से कंकड़, बालू या पत्थर इत्यादि पर चले।
  • लगभग 5 तक मंडूकासन योग का अभ्यास करें
  • रोजाना व्यायाम या योग जरुर करें।

एक निवेदन – इस ब्लॉग में दिए गए सभी Ayurvedic Treatment, Gharelu Nuskhe, Home Remedies, Hoemopathy इत्यादि लेख को लोगो के अनुभव के आधार पर तैयार किया गया है। किसी भी रोग में इन उपायों को अजमाने से पहले चिकित्सक (Doctor) की सलाह जरुर लें। ऊपर बताये गए उपाय और नुस्खे को अपने विवेक के आधार पर इस्तेमाल करें। कोई असुविधा होने पर इस ब्लॉग की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी।

|धन्यवाद|

  • Facebook
  • Twitter
  • Google+
  • Linkedin
  • Pinterest

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

It is main inner container footer text