Nightfall in Hindi – स्व्प्नरोग का घरेलु दवा

/
/
307 Views

Best Medicine for Nightfall Disease – स्व्प्नरोग का घरेलु दवा

Nightfall in Hindi – आज इस लेख स्वप्नदोष की समस्या पर चर्चा करेंगे। युवाओं में स्वप्नदोष का होना एक आम बात है। रात में नींद के समय जब स्वत: वीर्य (Semen) निकल जाये, तो उसे ही स्वप्नदोष यानी Wet Dream कहते है। शरीर में कई प्रकार के होर्मोन परिवर्तन के कारन भी स्वप्नदोष हो जाता है। स्वप्नदोष होने की वजह से चिंता करने की जरुरत नहीं है।

Ayurvedic Treatment for Nightfall in Hindi – शुक्राशय में जब वीर्य का स्तर ज्यादा बढ़ जाता है, तो उस वजह से भी स्वप्नदोष हो जाता है। अगर यह कभी कभार होता है, तो डरने वाली बात नहीं है। लेकिन स्वप्नदोष की समस्या बार-बार हो रही है, तो सचेत हो जाइये। क्यूंकि बार बार होने के कारण आपकी सेहत पर असर पड़ सकता है। अत्याधिक उत्तेजित होना या हमेशा सम्भोग के बारे में नहीं सोचना चाहिए।

अगर 3 से 4 सप्ताह में वीर्य संख्लन यानी स्वप्नदोष हो जाये। तो  घबराने की आवश्यकता नहीं है। यह समान्य बात है।

CAUSES OF NIGHTFALL DISEASE / SWAPANDOSH KE KARAN

  • सेक्स के बारे में ज्यादा सोचना
  • पेट में गरमी का होना
  • अश्लील किताबे और पोर्न विडियो देखना
  • कब्ज की समस्या का होना
  • ज्यादा अंडा, मछली, मांस और शराब का सेवन करना

Ayurvedic Treatment for Nightfall – स्वप्नदोष का उपचार

Nightfall in Hindi

1. Cure for Nightfall Disease ⇒ स्वप्नदोष की समस्या से बचने के लिए ठंडी चीजों का सेवन करे। इन चीजों के कारण शरीर की गर्मी कम होती है। खासकर रात का भोजन हल्का ले। गर्म तासीर वाले चीजों से परहेज करे।

2. Ayurvedic Treatment for Nightfall Disease ⇒ इमली का बीज भी मददगार है। सबसे पहले 120 ग्राम ले। अब दो दिन तक पानी में भींगा कर रखे। उसके बीज को महीन पीस ले। अब एक गिलास गाय के दूध में मिलाकर पिए। ऐसा सुबह और शाम करे। इससे धात रोग में फायदा होता है।

3. Nightfall ka gharelu upchar ⇒ स्वप्नदोष की समस्या से परेशान व्यक्ति को विटामिन इ भरपूर मात्रा में लेनी चाहिए। बादाम, शकरकंद, पालक और अवोकेडो इत्यादि। इन सब का सेवन करे। आप चाहे तो विटामिन इ कैप्सूल भी ले सकते है।

4. Best Medicine for Nightfall in Hindi ⇒ शिलाजीत इस रोग की सबसे बेहतरीन औषधि है। चूँकि शिलाजीत में कई प्रकार के पोषक तत्व मौजूद है। इसके उपयोग करने से स्वप्नदोष नियंत्रण में रहता है।

5. Best Treatment for Nightfall in Hindi ⇒ इस रोग में केला का सेवन करना भी फायदेमंद है। रोजाना दो केला खाए। उसके बाद एक गिलास गुनगुना दूध पी ले। आपको फायदा होगा। यह क्रिया लगभग 90 दिनों तक करे।

दादी माँ के घरेलु नुस्खे – Dadi maa ke gharelu nuskhe

6. स्वप्नदोष का आयुर्वेदिक ईलाज ⇒ स्वप्नदोष की समस्या में लौकी का जूस पीजिये। लौकी में फाइबर की मात्रा प्रचुर होती है। रात को सोने से कुछ देर पहले एक गिलास लौकी का जूस पीजिये।

7. Cure for Nightfall in Hindi ⇒ सबसे पहले गोखरू, शतावर, तलमाखाना और सफेद मूसली को बराबर मात्रा में ले। फिर उन सब को पीसकर चूर्ण बना ले। लगभग 4 ग्राम चूर्ण दूध के साथ सेवन करे।

8. स्वप्नदोष का घरेलु ईलाज ⇒ तिल और हल्दी को बराबर मात्रा में लीजिये। अब उसका पाउडर तैयार कर ले। इस मिश्रण को 3 ग्राम ले, आपको लाभ मिलेगा।

9. Ayurvedic Treatment for Swpandosh ⇒ सबसे पहले शतावर, अश्वगंधा और विदारी लगभग 10-10 ग्राम लीजिये। अब उसमे लगभग 30 ग्राम मिश्री मिलाकर पाउडर तैयार कर लीजिये। इस मिश्रण को लगभग 3 ग्राम तक ले सकते है।

10 Home Remedies for wet dream ⇒ सबसे पहले सुखा धनिया और मिश्री को पीसकर पाउडर तैयार कर ले। अब इस पाउडर को प्रतिदिन आधा चम्मच पानी के ले। आपको फायदा होगा।

11. Nightfall Disease ka ilaj ⇒ लगभग 5 ग्राम अदरक का रस और 10 ग्राम सफेद प्याज का रस लीजिये। अब उसमे 3-3 ग्राम शुद्ध घी और शहद मिला ले। रात्री में सोने से पहले सेवन करे। आपको लाभ मिलेगा।

12. स्वप्नदोष का आयुर्वेदिक उपचार ⇒ त्रिफला का सेवन करना आपके लिए फायदेमंद है। स्वप्नदोष की एक वजह कब्ज भी है। इसलिए प्रतिदिन त्रिफला चूर्ण का सेवन करे। आपको लाभ मिलेगा।

Swapandosh ka anya gharelu upchar

  • नियमित व्यायाम और योग करें।
  • ताजे फलों और सब्जियों का सेवन करें।
  • ज्यादा मात्रा में पानी पिए।
  • सुबह-सुबह बरगद के दूध के साथ बतासे का सेवन करें।
  • रात में हल्का भोजन करें।

उम्मीद है Nightfall in Hindi लेख आपको उपयोगी लगा हो। प्लीज इस लेख को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे। निचे दिए गए बटन को दबाकर अपने ट्वीटर, फेसबुक और गूगल प्लस अकाउंट पर शेयर करे।

ऊपर बताये गए किसी भी उपायों को अजमाने से पहले चिकित्सक (Doctor) की सलाह जरुर लें। ऊपर बताये गए उपाय और नुस्खे को अपने विवेक के आधार पर इस्तेमाल करें। कोई असुविधा होने पर इस ब्लॉग या एडमिन  की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी।

|Thank You|

  • Facebook
  • Twitter
  • Google+
  • Linkedin
  • Pinterest

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

It is main inner container footer text