Homeopathy Medicine for Fever in Hindi

/
/
1029 Views

Homeopathy Medicine for Fever in Hindi

Fever यानी बुखार ये कभी न कभी हर उम्र के व्यक्ति को अपने जीवन काल में सामना करना पड़ा होगा।हर बदलते मौसम के साथ  हमारे शारीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी चेंज होती है। इसलिए मौसम के बदलने से कुछ बीमारियों का इजाफा हो जाता है जैसे – सर्दी जुकाम, खांसी और “बुखार” इत्यादि। बदलते मौसम का असर बच्चो और बुजुर्ग में ज्यादा देखी जाती है।

Bukhar ka Homeopathic upchar – बुखार के अन्य कारण भी हो सकते है जैसे डेंगू, मलेरिया आदि।बुखार के कारन शारीर का तापमान बढ़ जाता है। बुखार में कुछ भी अच्छा नहीं लगता है। यहाँ पर हम कुछ प्रकार के बुखार और उसके  “Homeopathic Medicine for Fever in Hindi” के बारे में बात करेंगे।

Homeopathy Medicine for Fever in Hindi

Homeopathy Medicine for Fever

Problem: तेज बुखार और सिर में दर्द का होना।

Solution: (1) Belladona 200

 

Problem: बुखार के साथ बदन और हाथ पैर दर्द का होना।

Solution: (1) Bryonia Alba 30 (2) Euptorium perf 30

 

Problem: बुखार / Fever के साथ सिर में दर्द और जरा सा खांसी का होना।

Solution: (1) China ARS 30

 

Problem: बुखार और उसके साथ खांसने से साँस फूलना।

Solution: (1) Arsenic Alba 30 (2) Rhus tox 30

 

Problem: बुखार होना और खांसने से सीने में दर्द महसूस होना।

Solution: (1) Bryonia 30 (2) Phosphorus 30

 

Problem: बुखार / Fever का दिन में 12 बजे आना या रात 12 बजे को बुखार लगे।

Solution: (1) Arsenic Alba 30

 

Problem: बुखार और खांसने से उल्टी का होना।

Solution: (1) Ipecac 30 (2) Bryonia 30

 

Problem: फीमेल को चेचक में बुखार होने पर।

Solution: (1) Pulsatila 30

 

Problem: बुखार होने पर कमजोरी का होना।

Solution: (1) Gelsemium 30

 

Problem: मेल को चेचक के साथ बुखार होने पर।

Solution: (1) Belladona 200

 

Problem: बुखार / Fever के साथ टट्टी का आना।

Solution: (1) Baptisia 30

Problem: हड्डी तोर बुखार का होना।

Solution: (1) Bryonia 30

*बुखार होने पर आप दूध, बताशा और उबला पानी ले। बुखार ठीक होने पर आप दाल, रोटी और उबला पानी पिये।  “Fever ka Homeopathic Medicine in HIndi”

उम्मीद है की, आपको यह लेख उपयोगी लगा होगा। प्लीज इस लेख को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे। निचे दिए गए बटन को दबाकर अपने ट्वीटर, फेसबुक और गूगल प्लस अकाउंट पर शेयर करे।

यह भी पढ़े :-

यह लेख को, लोगो के अनुभव के आधार पर तैयार किया गया है। किसी भी रोग में इन उपायों को अजमाने से पहले चिकित्सक (Doctor) की सलाह जरुर लें। ऊपर बताये गए उपाय और नुस्खे को अपने विवेक के आधार पर इस्तेमाल करें। कोई असुविधा होने पर इस ब्लॉग की किसी भी तरह की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी।

|धन्यवाद|

  • Facebook
  • Twitter
  • Google+
  • Linkedin
  • Pinterest

1 Comments

  1. I have checked your blog and i’ve found some duplicate content,
    that’s why you don’t rank high in google, but there is
    a tool that can help you to create 100% unique content, search for; Boorfe’s tips unlimited content

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This div height required for enabling the sticky sidebar